"No fee shall be charged at Bodh Stupa, Sanchi, M.P on 28th November, 2021 on account of Sanchi Mahotsav, 2021""Internship Programme in Archaeological Survey of India-reg."

संग्रहालय-मुर्शिदाबाद

banner-06


Hazarduari Palace Museum, Murshidabad (West Bengal)

हजारद्वारी महल संग्रहालय बंगाल की भूतपूर्व राजधानी मुर्शिदाबाद में हजारद्वारी महल में स्‍थित है। मुर्शिदाबाद सड़क मार्ग से कोलकाता से 219 किलोमीटर की दूरी पर स्‍थित है। इसे प्रसिद्ध वास्‍तुकार मैकलिओड डंकन द्वारा ग्रीक (डोरिक) शैली का अनुसरण करते हुए नवाब नाज़िम हुमायूँ जहॉं (1824-1838 ई.) के शासन काल में बनाया था। इस महल का नाम हजारों से भी अधिक वास्‍तविक और आभासी द्वारों और इसमें मौजूद विशाल गलियारों के कारण पड़ा।

1985 में इस महल के बेहतर परिरक्षण के लिए भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण को सौंप दिया गया। यह संग्रहालय भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण का सबसे बड़ा स्‍थल संग्रहालय माना जाता है और इसमें बीस दीर्घाएं प्रदर्शित हैं जिनमें 4742 पुरावस्‍तुएं मौजूद हैं जिनमें से जनता के लिए 1034 पुरावस्‍तुएं प्रदर्शित की गई हैं।

पुरावस्‍तुओें के संग्रह में विभिन्‍न प्रकार के हथियार, डच, फ्रांसिसी और इतालवी कलाकारों द्वारा बनाए गए तैल चित्र, संगमरमर की मूर्तियॉं, धातु की वस्‍तुएं, चीनी मिट्टी और गचकारी की मूर्तियॉं, फरमान, विरल पुस्‍तकें, पुराने मानचित्र, पाण्‍डुलिपियाँ, भू-राजस्‍व के रिकार्ड, पालकी शामिल हैं जिनमें से अधिकतर 18वीं और 19वीं शताब्‍दियों से सम्‍बंधित हैं।

प्रवेश शुल्‍क : भारतीय नागरिकों के लिए 5/- रू. और विदेशियों 200/- रू.

संग्रहालय शुक्रवार को बंद रहता है।

स्मारकों की सूची
अधिक जानकारी के लिए, कृपया यहां जाएं:

संपर्क विवरण
डॉ गोपी नाथ जेना, उप अधीक्षक पुरातत्वविद्,
Hazarduari पैलेस संग्रहालय, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण,
जिला मुर्शिदाबाद -742 160 पश्चिम बंगाल
फोन: 03482-270334

Facebook Twitter