Home

मुख्य पृष्ठ   :   संपर्क करें   :   साईट मैप  :खोजें :  English   

New Page 1
About Us
  परिचय 
  स्मारक
  उत्खनन 
  संरक्षण तथा परिरक्षण
  पुरालेखीय अध्ययन 
  संग्रहालय 
  विधान
  प्रकाशन
  पुरातत्व संस्थान 
  केंद्रीय पुरावशेष संग्रह
  राष्ट्रीय मिशन 
 

केंद्रीय पुरातत्व पुस्तकालय 

 

अन्तर जलीय पुरातत्व

 

विदेशों में गतिविधियाँ 

 

उद्यान

 

छायाचित्र चित्रशाला

 

सिंहावलोकन 

 

चलचित्र 

 

सूचना का अधिकार अधिनियम 

होम > संग्रहालय  > वैशाली  
संग्रहालय-वैशाली

पुरातत्‍वीय संग्रहालय, वैशाली

(जिला वैशाली, बिहार)

 

यह संग्रहालय इस क्षेत्र में और इसके आसपास खोजबीन और उत्‍खनन के दौरान पाई गई पुरावस्‍तुओं के परिरक्षण के लिए 1971 में स्‍थापित किया गया था। इसमें चार दीर्घाएं हैं।

प्रथम दीर्घा में मानव मूर्तिकाओं, नैगमेश माता और शिशु, दुर्गा, बुद्ध के चित्र वाली पटिया, एक अन्‍य पटिया जिसमें बोधिसत्‍व का चित्र दर्शाया गया है और एक महिला की मूर्ति प्रदर्शित है। इसके अलावा, पत्‍थर की छत्रावली, ढलवां ईंटे और खपरैल भी प्रदर्शित किए गए हैं।

द्वितीय दीर्घा में महत्‍वपूर्ण प्रदर्शित वस्‍तुओं में भेड़, हाथी, घोड़े, सांड़, कुत्‍ते, बंदर, पक्षियों, सांप के फण की टेराकोटा मूर्तिकाएं, मुद्राएं और मुद्रांकन, पहिये, झुनझुना, मनके, टेराकोटा का मलपात्र, तांबे के आहत और ढलवां सिक्‍के इत्‍यादि शामिल हैं।

एन बी पी और पी जी डब्‍ल्‍यू के पात्र के टुकड़े, हिरण के सींग, हड्डी, कंगन, तीर का शीर्ष भाग, चाकू, कील, घंटी इत्‍यादि जैसे औजार तृतीय दीर्घा में प्रदर्शित किए गए हैं।

चतुर्थ दीर्घा में कटोरे, तश्‍तरी, सूक्ष्‍म पात्र, गुलदस्‍ते, लैंप, दावात, ढक्‍कन-घंटी, जल छिड़कने के पात्र और टोंटी इत्‍यादि जैसे मिट्टी की वस्‍तुएं प्रदर्शित की गई है।

खुले रहने का समय : 10.00 बजे पूर्वाह्न से 5.00 बजे अपराह्न तक

बंद रहने का दिन - शुक्रवार

प्रवेश शुल्‍क : 2/- रू. प्रति व्‍यक्‍ति

(15 वर्ष तक के बच्‍चों के लिए नि:शुल्‍क)     


 

 

 

 

 

 

 

 

Know about

Patna Circle

 

 

 

इसके बारे में जानकारी हासिल करें।

पटना मंडल

 

 

 

 

 

 

संपर्क विवरण

वैशाली

संग्रहालय

डॉ. डी.एन. सिन्‍हा,

सहायक अधीक्षण पुरातत्‍वविद्

06224-229404    (टेली/फैक्‍स)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 
About Us