Home

मुख्य पृष्ठ   :   संपर्क करें   :   साईट मैप  :खोजें :  English   

New Page 1
About Us
  परिचय 
  स्मारक
  उत्खनन 
  संरक्षण तथा परिरक्षण
  पुरालेखीय अध्ययन 
  संग्रहालय 
  विधान
  प्रकाशन
  पुरातत्व संस्थान 
  केंद्रीय पुरावशेष संग्रह
  राष्ट्रीय मिशन 
 

केंद्रीय पुरातत्व पुस्तकालय 

 

अन्तर जलीय पुरातत्व

 

विदेशों में गतिविधियाँ 

 

उद्यान

 

छायाचित्र चित्रशाला

 

सिंहावलोकन 

 

चलचित्र 

 

सूचना का अधिकार अधिनियम 

होम > संग्रहालय  > श्री सूर्यपहाड़  
संग्रहालय-श्री सूर्यपहाड़

पुरातत्‍वीय स्‍थल संग्रहालय, श्री सूर्यपहाड़

(जिला गोलपारा, असम)

 

श्री सूर्यपहाड़ ब्रह्मपुत्र घाटी के निचले असम में गोलपारा शहर से 14 कि.मी. पूर्व में स्‍थित है। जैसा कि नाम दर्शाता है, यह संभवत: अति प्राचीन काल से सूर्य की उपासना करने वाले सम्‍प्रदाय से जुड़ा था। यह स्‍थल ब्राह्मण देव-समूह के अनेक शिला-उत्‍कीर्णन, पत्‍थर को काट कर बनाए गए उपासना वाले स्‍तूपों और जैन आस्थाओं के तीर्थंकरों के शिला-उत्‍कीर्णन से भरपूर है जो प्रारंभिक ईसाई काल (ईसवी) से 12वीं शताब्‍दी ईसवी तक के हैं।

इस स्‍थल पर किए गए पुरातत्‍वीय उत्‍खनन में 6-12वीं शताब्‍दी ईसवी के दो मंदिर परिसरों के अवशेषों से अनेक पुरावस्‍तुएं प्राप्‍त हुई हैं। इन उत्‍खननों के माध्‍यम से महत्‍वपूर्ण टेराकोटा कला वस्तुएं और पत्‍थर की पुरावस्‍तुएं संग्रहित की गई हैं। पाई गई पाषाण प्रतिमाओं में एक महिषासुरमर्दिनी की मूर्ति, कीर्तिमुखों को दर्शाने वाले ताराकर शिला-अंश, विद्यादर, सजावटी वस्‍तुएं, टेराकोटा पटिये, उत्‍कीर्णित ईंटे इत्‍यादि उल्‍लेखनीय हैं। संग्रहालय की 173 पुरावस्तुओं में, 93 वस्‍तुएं तीन दीर्घाओं में प्रदर्शित की गई हैं।

खुले रहने का समय : 10.00 बजे पूर्वाह्न से 5.00 बजे अपराह्न तक

बंद रहने का दिन - शुक्रवार

प्रवेश शुल्‍क : संग्रहालय में प्रवेश नि:शुल्‍क है।

 

 

 

 

 

 

 

Know about

Guwahati Circle

 

 

 

 

इसके बारे में जानकारी हासिल करें।

गुवाहाटी मंडल

 

 

 

 

 

 

 

Contact Details:

Shri Salam Shyam Singh,
Assistant  Archaeologist, Archaeological Museum Archaeological Survey of India, Sri Suryapahar, District Goalpara, Assam

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 
About Us