बागवानी शाखा

main_img-1
भा.पु.स. द्वारा अनुरक्षित उद्यान दो श्रेणियों के हैं:-

  • ऐसे जो स्‍मारक से संबंधित हैं मूल डिजाइन के एक भाग के रूप में जिनके चारो ओर बाग थे, तथा
  • ऐसे जो सामान्‍यतया इतने विस्‍तृत नहीं थे, जो मूल रूप से बगीचों से संलग्‍न न रहते हुए स्‍मारकों की सुन्‍दरता के लिए बने थे ।

 

प्रथम श्रेणी के अन्तर्गत मुगलों द्वारा बनवाए गए स्‍मारक आते हैं जो अलंकृत बगीचों तथा फल उद्यानों के प्रति अपने प्रेम के लिए प्रसिद्ध हैं । ऐसे मामलों में, सज्‍जा तथा सिंचाई दोनों के लिए प्राचीन फूलों की क्‍यारियां तथा जल चैनलों से उनका संबंध अभी भी विद्यमान है । ऐसे स्‍मारकों में हुमायूं का मकबरा, सफदरजंग का मकबरा, लाल किला, बीबी का मकबरा, औरंगाबाद, पिंजौर स्‍थित महल, अकबर का मकबरा, सिकन्‍दरा, इतमद-ऊ-द्दीन का मकबरा तथा आगरा स्‍थित रामबाग तथा सर्वाधिक आगरा स्‍थित ताज शामिल हैं । इन स्‍मारकों से जुड़े बगीचों का रखरखाव वास्तव में एक कठिन कार्य है, क्‍योंकि किसी भी नए विन्‍यास को मूल डिजाइन के अनुसार होना चाहिए तथा इसकी अनुरूपता, इसके मूल निर्माता के विचारों से होनी चाहिए । इन अलंकृत बगीचों का रखरखाव एक आवश्‍यकता है जो स्‍वयं स्‍मारक के रखरखाव से भी कम नहीं है क्‍योंकि इनके बिना स्‍मारक अपूर्ण हैं । अन्‍य मामलों में उदाहरण के लिए दिल्‍ली स्‍थित कुतुब तथा लोधी स्‍मारक के बगीचे प्रारम्‍भिक रूप से स्‍मारक के लिए एक व्‍यवस्‍था उपलब्‍ध कराते हैं तथा इसके आसपास के भाग को आकर्षित बनाते हैं । पहली श्रेणी के बगीचों के मुकाबले इनके अभिविन्‍यास में अधिक स्‍वतंत्रता होती है ।
 
कई मामलों में जहां भूदृश्‍य शुष्‍क तथा उबड़-खाबड़ होता है, लॉन बना कर तथा कुछ वृक्षों और झाड़ियों के माध्‍यम से पर्यावरण को विकसित किया जाता है । ऐसे स्‍मारकों के लिए जो बड़े शहरों के भीतर या पास होते हैं और बड़ी संख्‍या में दर्शकों को आकर्षित करते हैं के लिए सामान्‍यता अधिक शानदार बगीचों की योजना बनाई जाती है, किन्‍तु इस तथ्‍य को नजरअंदाज नहीं किया जाता कि पुरातत्‍वविदों का मुख्‍य उद्देश्‍य सार्वजनिक बगीचे तैयार करना नहीं है । किसी भी श्रेणी के बगीचे में, बगीचों के आधुनिकीकरण के विरूद्ध सावधानी बरती जाती है ।

बागवानी शाखा
पूर्वी गेट के पास, ताजमहल, आगरा
(कोड – 0562)

बागवानी शाखा, हेडक्वार्टर एजी आगरा (यूपी)
न्यायक्षेत्र: – पूरे भारत में

नाम / ईमेल फोन / फैक्स

बागवानी शाखा,
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण,
गेट नं। 3, मॉल रोड, आगरा- 282 001
ई-माई आईडी :- dirhor[dot]asi[at]gmail[dot]com

फ़ोन: 0562 – 2225427, 2225448, 2225487
फैक्स:- 0562 – 2332096

 


बागवानी शाखा, संख्या -1, हेडक्वार्टर एजी आगरा
न्यायक्षेत्र: – उत्तर प्रदेश, उत्तरांचल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र

नाम / ईमेल फोन / फैक्स
श्री वीके गौर
उप। अधीक्षक बागवानी
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण,
बागवानी प्रभाग सं। -1
पूर्वी गेट ताजमहल
आगरा- 282 001
ई-माई आईडी :- horagr[dot]asi[at]gmail[dot]com
फ़ोन: – 0562 – 2330257
फैक्स:- 0562 – 2230586


बागवानी शाखा नं. II, हेडक्वार्टर नई दिल्ली में
न्यायक्षेत्र: – दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, गुजरात, जम्मू और amp; कश्मीर

नाम / ईमेल फोन / फैक्स
श्री नरेश कुमार

उप। अधीक्षक बागवानी
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण,
बागवानी प्रभाग संख्या -2
सफदरजंग मकबरा,
नई दिल्ली- 110003
ई-माई आईडी :- hordel[dot]asi[at]gmail[dot]com

फ़ोन: – 011- 23011395
फैक्स:- 011- 23017377


बागवानी शाखा नं. III, हेडक्वार्टर मैसूर में
न्यायक्षेत्र: – कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश गोवा

नाम / ईमेल फोन / फैक्स
श्री एमएच थंगल
उप। अधीक्षक बागवानी
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण,
बागवानी प्रभाग संख्या -3
चौथी मुख्य सड़क, हेबबल द्वितीय चरण,
संकांति मंडल के पास,
मैसूर- 570017
फ़ोन / फैक्स: – 0821 – 2303422
ई-माई आईडी . :- hormys[dot]asi[at]gmail[dot]com

 


बागवानी डिवीजन संख्या -4, भुवनेश्वर में हेडक्वॉर्टर
न्यायशास्र: – उड़ीसा, बिहार, छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, उत्तर – पूर्वी राज्य

नाम / ईमेल फोन / फैक्स
श्री पीके चौधरी
उप। अधीक्षक बागवानी
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण,
बागवानी प्रभाग संख्या -4
पुरतत्व निवास,
तोशाली प्लाजा अपार्टमेंट,
सत्य नगर,
भुवनेश्वर – 751007
ई-माई आईडी :- horbhu[dot]asi[at]gmail[dot]com
फ़ोन: – 0674 – 2573761
फैक्स:- 0674 – 2393057
Facebook Twitter